38 thoughts on “रिश्वत में DISCOUNT! मोल भाव की AUDIO VIRAL | V-866 | TRANSPORT TV

  1. 🙏🙏👍 namaste sar bahut sahi kam kar rahe hain aap aapko aapke transport tv company ko bahut bahut dhanyavad

  2. सर मैंने डीजल चोरी की एक वीडियो भेजी है मेरे गाड़ी से डीजल चोरी हो गया है वह आप वीडियो बना कर डाल दें ताकि मेरे कंपनी वाले मान जाएं

  3. पूरे देश का यही हाल है और खासकर के मध्य प्रदेश का तो बहुत बुरा हाल है

  4. Sir ji ye jo sahdol ka RTO office hai thik usi ke pass me ek toll naka hai wo nake wale 5% ko nahi mante aur gadi andarlod hote hue bhi owarlod bol ke manmane paise wasulte hai

  5. सहीकाहा आपने सरजि मालक चालक डरेगे तौ टगेजायेगे ईनके खिलाफ आवाज ऊटानि चाहिये

  6. Zabardast!! lekin aapne meri comments kyo delete kar di kal. Dar Chor ko lagna chahiye, hamari gadio ko 18-20 lac per gadi nuqsan hua hai.

  7. हमारी मुलाकात उज्जैन आरटीओ से हुई वह गाड़ी कंप्लीट होने पर छोड़ दी जाती है

  8. 1~पुलिस को पुलिस वाला क्यों कहते हैं ?
    पुलिस जी क्यों नही कहते हैं ?
    2 ~साईबर क्राईम के कानून को बंद क्यों नही कर देते ?
    और इसका नाम बदलकर साईबर एवार्ड कर देना चाहिए ! (जैसे कि बधाई हो आपने मुझे ठगा और आप मेरे पैसों को एवार्ड के रुप मे रख लीजिये )
    क्योंकि ऐसे मामले मे पुलिस हमारी रिपोट (FIR) नही लिखती है
    और उलटा डाँटकर भगा देती है
    और कहती है गलती तुम्हारी है तुम भूगतो जव साईबर का कानून बना है तभी तो हम रिर्पोट लिखाने जाते हैं न ?
    और उसपर भी पुलिस हमें ही दोषी ठहराए तो "डूब मरना चाहिए हम लोगों को"
    वाह रे "मेरा भारत महान " !
    (अन्य कई अपराधों में FIR नही लिखती है)
    मेरे देश का कानून तो अच्छा है लेकिन कानून के रक्षक क्या करते हैं ?
    हमें जरूरत है एक एैसे पुलिस जी की जो साईबर क्राईम का FIR लिख सके !
    ( हमे एैसे पुलिस जी चाहिए जो कानून को इज्जतदार बनाएं और हम सभी अपने आत्मा दिल से पुलिस वाला न कहकर पुलिस जी कहकर पुकारें ! )
    3~मै पुलिस को अमृत पिलाकर अमर करना चाहती हूँ फिर क्यों वो जहर बनकर रिटायर होने के बाद भी नफरत का कारण बनते हैं ?
    मेरे इस आग्रह से मेरे देश मे एक पुलिस मे भी बदलाव आ गया तो मै यह समझूँगी कि मेरा यह जीवन सफल रहा और धन्य होऊँगी मै और धन्य होंगे वो जिन्होने मुझे मेरे भारत की धरती पर भेजा!
    4~मै विनती कर रही हूँ पुलिस परीवार के बच्चों से कि वे अपने पापा को कहें कि "पापाजी" हम पुलिस वाले का औलाद नही हम पुलिस जी के बच्चे कहलाना चाहते हैं ताकी कहीं आते जाते वक्त लोग हमें ये बोलें कि वो देखो पुलिस जी की बेटी जा रही है बहू जा रही है बेटा या दादा जी दादी जी जा रहें है! मेरा पुलिस जी से हाँथ जोडकर अनुरोध है जैसे आज मै पुलिस जी बोल रही हूँ वैसे मेरे देश का हर नागरिक बोले !
    धन्यवाद !
    जय हिन्द जय भारत जय छत्तीसगढ 🇮🇳 🇮🇳 🇮🇳।
    सादर प्रणाम 🙏 🙏 🙏आपको भी पढ़ने के लिए ! शिवानी केशरी भिलाई
    आप भी यह मैसेज वायरल करें मै चाहती हूँ मेरा यह मैसेज मेरे देश के हर नागरीक तक पहुँचे i
    धन्यवाद🙏🙏🙏

  9. हराम का पैसा कभी नहीं टिकता इस दुनिया में जो भी जुगाड़ लगाओ गे तो आप लगा सकोगे लेकिन इस दुनिया के ऊपर भी एक और दुनिया है जहां ऑन द स्पॉट फैसला होता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *